Saturday, June 15, 2019

Doxing क्या होता है ? - Detail Explained in Hindi

आज की इस ब्लॉग में पोस्ट में आपको मैं बताऊंगा की Doxing क्या होता है (What is Doxing in Hindi) और साथ ही साथ में आपको ये भी बताऊंगा की Doxing क्यों करी जाती है और Doxing से कैसे बचा जा सकता है। और भी बहोत सारी बातें है जो में आपसे इस पोस्ट में शेयर करूंगा । नमश्कार दोस्तों में हूँ शिवम् और वेलकम है आपका Hindi Blogger Buzz वेबसाइट में। 

आपने कही फोटोज या इन्टरनेट में पढ़ा होगा की You are Doxed. तो क्या आपको दोक्सिंग के बारे में पता है या फिर आपने ये पहली बार सुना है । आज के time पे हर कोई इन्टरनेट से कनेक्टेड है, चाहे वो छोटा हो या बड़ा सब इन्टरनेट users है । इन्टरनेट का इस्तेमाल करते वक्त हम को कई चीजों से सावधान भी रहेना पड़ता है । Doxing को Doxxing भी कहा जाता है  


तो एक इन्टरनेट यूजर को Doxing के बारे में पता होना ही चाहिए वर्ना आप भी Doxing के शिकार हो सकते हो । तो आज की पोस्ट में आपको मैं Doxing के बारे में पूरी जानकरि देने वाला हूँ जानने के लिए आपको इस ब्लॉग पोस्ट को पूरा पढना होगा
Doxing Kya Hota Hai?
Doxing Kya Hota Hai?


Doxing क्या होता है ? What is Doxing in Hindi

तो चलिए जान लेते है की ये दोक्सिंग होता क्या है Doxing वो प्रोसेस है जिसमे  कोई भी यूजर या फिर कोई हैकर किसी दुसरे  इंसान या फिर कंपनी की सेंसिटिव confidential जानकरि जैसे की उसकी बैंक डिटेल्स या फिर जो भी वो शेयर न करना चाहता हो उसे वो यूजर या  हैकर शेयर कर देता है ताकि सब वो डिटेल्स देख सके। आसन शब्दों में बताऊ तो एक बाँदा अगर दुसरे बन्दे की इनफार्मेशन को बिना उसकी मर्जी लिए उसकी पर्सनल डिटेल्स को ऑनलाइन लीक करदे या उसका गलत इस्तेमाल करे तो उसे Doxing कहते है । Doxing को Doxxing भी कहा जाता है  


आप और मैं या हम सब Social Media जैसे Facebook, Twitter, Instagram इन् सब से जुड़े हुए है और आपने फेसबुक, इन्स्ताग्राम, ट्विटर में देखा ही होगा की लोग अपनी पर्सनल डिटेल कितनी शेयर करते है । जैसे कोई खी घुमने गया है तो तुरंत पोस्ट करता है की में यहाँ आया हूँ और भी वगरह वगरह तो आपके शेयर कर देने के बाद हर कोई जो की आपके लिए unknown person है वो भी आपकी पोस्ट देख सकता है और उस person को भी पता चल जाएगा की आप इस वक्त कहा हो और क्या कर रहे हो 

और Doxing सिर्फ social media से ही नही होती बल्कि जो आप एप्लीकेशन अपने पाने में डाउनलोड करते हो वेबसाइट विजिट करते हो उनसे भी होती है । कैसे ये में बताता हूँ । आप ने मानलो कोई लोन वाली एप्लीकेशन डाउनलोड की और आपने उसमे अपनी bank details, PAN card number, adhaar card, DOB, Name, etc. ये सब या इससे भी ज्यादा चीज़े भरते हो । और क्या पता की वो एप्लीकेशन fake हो और आपसे सिर्फ आपकी इनफार्मेशन चाहती हो । एसा भी नही है की सब एप्लीकेशन ईएसआई है कुछ trusted भी है लेकिन आपको fake से सावधान रहना है । 

और सिर्फ एप्लीकेशन ही नही आप जो वेबसाइट में अपनी बैंक या और पर्सनल डिटेल्स डालो तो एक बार ये जांच लो की वो वेबसाइट trusted है या फिर नही । अब बात ये आती है की कोई  Doxing करेगा क्यों इसे करने के पैसे तो मिलते नही तो चलिए इस सवाल का जवाब भी जान लेते है 


Doxing क्यू करी जाती है ?  

जो भी कोई यूजर या हैकर है वो दोक्सिंग आखिर क्यों करना चाहेगा क्युकी इससे पैसे तो नही कमाए जाते । किसी की इनफार्मेशन शेयर करके कोई भी पैसे नही कमा सकता है । तो सवाल आता है की दोक्सिंग फिर क्यों करी जाती है । में आपको बता दू की दोक्सिंग आपको निचा दिखाने या फिर जलन या ब्लैक मेल के लिए करी जाती है । अब मान लो की मेरे फ्रेंड सर्किल में मरी ज्यादा फोटो लाइक्स करी जाती है तो कोई मेरा दोस्त या फिर कोई भी third person मेरी सेंसिटिव इनफार्मेशन जैसे बैंक डिटेल्स या कुछ भी इस्तेमाल करके गलत काम कर सकता है इसके बारे में तो आप सभी को भी पता ही होगा 

या फिर कोई आपका competitor जैसे मान लो की कोई कंपनी अपनी विरोधी कंपनी को पीछे छोड़ना चाहती है तो वो कंपनी सामने वाली कंपनी के सीक्रेट्स कैसे भी पता करके कही भी ऑनलाइन या फिर किसी भी प्लेटफार्म पे अपलोड कर देगी जिससे की सामने वाली कंपनी को नुक्सान हो सकता है

Doxing से कैसे बचे ? 

अब में आपको जो टिप्स बताने वाला हूँ अगर आप उन्हें फॉलो करोगे तो आप कही हद तक Doxing का शिकार होने से बचे रहोगे । मैं आपको ईएसआई कोई टिप्स नही दूंगा की आपको फेसबुक या ट्विटर का इस्तेमाल नही करना लेकिन ईएसआई टिप दूंगा की इनका इस्तेमाल करने के बाद भी आप बचे रहोगे Doxing से 



1. सबसे पहले तो आप अपने सभी सोशल म्मेडिया जो भी आप इस्तेमाल करते हो जैसे Facebook, Twitter, Instagram इन् सब में से अपना फ़ोन नंबर हाईड कर दीजिये । इससे ये होगा की आपका कांटेक्ट नंबर third person नही देख पायेगा 

2. जब भी आप किसी भी एप्लीकेशन में अपनी पर्सनल और सेंसिटिव डिटेल जैसे bank account, PAN number, ये सब डालो तो पहले देख लो की वो एप्लीकेशन trusted है या नही 

3. और untrusted वेबसाइट में भी अपनी बैंक या कोई भी पर्सनल डिटेल्स मत भरिये । जिन वेबसाइट के URL में http होता है शुरुआत में तो वो सेफ नही है अगर उसमे https है इसका मतलब वो सेफ है जैसे हमारी इस वेबसाइट में भी https है यानी की ये सेफ वेबसाइट है । 

Doxing Legal या Illegal ?



मेने आपको Doxing के बारे में बताया की इस प्रोसेस में कोई एक व्यक्ति किसी दुसरे व्यक्ति की इनफार्मेशन leak कर देता है तो जाहिर सी बात है की ये कोई भी नही चाहेगा की उसकी इनफार्मेशन लीक हो और ये सही काम भी नही है । तो Doxing इललीगल है ये Cyber Crime में आती है लेकिन इसके बारे में ज्यादा आपन्ने नही सुना होगा 

Doxing Kya Hota Hai? What is Doxing In Hindi
Doxing Kya Hota Hai?
Doxing Kya Hota Hai?

Conclusion - 

तो दोस्तों में उम्मीद करता हूँ की आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा और आपको इस आर्टिकल से कुछ नया सिखने को जरुर मिला होगा । तो आज हमने Doxing क्या होता है ? What is Doxing in Hindi ये भी जान लिया । इन्टरनेट का इस्तेमाल करना अछि बात है लेकिन जब तक आप इसका सही इस्तेमाल करोगे तब तक ये आपके लिए अच्छा है । और सोशल मीडिया पर पोस्ट करते वक्त ये ध्यान रखिये की आप कोई सेंसिटिव इनफार्मेशन तो शेयर नही कर रहे हो । हमेशा आपको अपनी इनफार्मेशन को लेकर ऑनलाइन स्ट्रिक्ट रहना चाहिए । वर्ना कई तो मेने इसे भी देखे है की अपना नंबर पोस्ट करके लिख देते है ये मेरा नया नंबर है आप इसपर मुझसे बात कर सकते हो । आपको एसा कुछ नही करना है   

इन् आर्टिकल्स को भी जरुर पढ़े :




तो आज के लिए सिर्फ इतना ही दोस्तों में आगे भी आपके लिए इसे ही technology और blogging से रिलेटेड आर्टिकल लता रहूँगा जिनसे आपको कुछ नया सिखने को मिलेगा । और अगर आप Technology या Blogging से रिलेटेड कुछ भी पूछना चाहते हो तो निचे कमेंट करना मत भूलना में आपके कमेंट का रिप्लाई जरुर करूंगा । और हमारे Facebook Page को लिखे करना न भूले  तो चलिए अब मिलते है अपनी अगली पोस्ट में 

जय हिन्द, वन्दे मातरम  

Contact Form

Name

Email *

Message *

Follow by Email